पारकेम्प®भारत

पर 10 लाख से 50 लाख के बीच की कमाई करने वालों का वर्ग ही क्यों चुना गया है?

  1. क्या इससे कम आमदनी वाला वर्ग अपने यंहा पूर्णकालिक रसौईया, ड्राइवर, माली, आया या अन्य कर्मचारियों को रखकर एकाधिक सम्मानजनक रौज़गार उपलब्ध करा सकता है?

मैं कैसे इस लॉकडाउन से दस लाख या अधिक रुपये कमा सकता हूँ?

मैं कैसे इस लॉकडाउन से दस लाख रुपये कमा सकता हूँ।

मैं कैसे इस लॉकडाउन से दस लाख रुपये कमा सकता हूँ?

लॉकडाउन से या बिना लॉकडाउन के पूरे भारत में 15 दिन की मेहनत से सिर्फ एक लाख भारतीय ही वर्ष 2018 में 10 लाख रुपये ईमानदारी से बना पाये थे, वो भी तब जब सारी दुनिया चल रही थी। मतलब हमारे आसपास के बारह हजार मैं से सि

में अगले 15 दिनों में । ऐसा क्या कर सकता हूँ?

में अगले 15 दिनों में । ऐसा क्या कर सकता हूँ?

कि मेरे देश की अर्थव्यवस्था दुनिया की सिरमौर अर्थव्यवस्था बन जाये?

पहली चीज हमें सकारात्मक रहना है, नियमों का पूरा पालन करते हुए घर के अन्दर ही रहना है और बाहरी हर चीज से पूर्ण सज्ञानता में व्यवहार करना है, जैसे यदि सब्जी लेने बाहर गये तो लाकर पूर्ण स्वच्छता का ध्

भारत को दुनिया की महानतम अर्थव्यवस्था बनाने के लिये हमें क्या करना है आज?

  1. आगे की यात्रा पर चलने के पहिले जानना जरूरी नहीं है, कि हमारा वाहन क्या है; जिस पर सवार होकर हम मुंगेरीलाल के हसीन सपने देखने को तैयार हों?
  2. क्या हमें मालूम है कि हममें से प्रत्येक व्यक्ति दस हजार अन्य लोगों की तुलना में कम से कम एक काम बेहतर तरीके से कर सकता है?
  3. अब यदि कोई हममें से उस छिपी हुई प्रतिभा, जुनून और  योग्यता को खौज निकाले; जिससे हमारी बढ़ी हुई क्षमता से हम बेहतर उत्पादकता हासिल कर सकें; तो क्या काम से संबंधित तनाव और घर्षण काफी कम नहीं हो जाएगा? 
  4. क्या यह चौकोर छेद में गोल खूंटी होने की हताशा का हल नहीं हो सकता; जिससे कभी का सोने की चिड़िया जैसा

पारकेम्प® क्या है?

प्रत्येक व्यक्ति दस हजार अन्य लोगों की तुलना में कम से कम एक काम बेहतर तरीके से कर सकता है। पारकेम्प® आप में उस एक बात को खौजकर जिन्हें उस एक बात की जरूरत है उन्हें बताकर आपके लिये बेतरीन रचनात्मक व जिम्मेवारी पूर्ण रौजगार का बन्दौबस्त करता है। इस प्रकार पारकेम्प®; एक पैशन एप्टीट्यूड रिकॉग्निशन कैंप जिसका

लॉक डाउन में हम घर बैठे पैसा कैसे कमा सकते हैं?

आजकी परिस्थिती में औऱ निकट भविष्य में श्रेष्ठतम पर्याय साबित हो ऐसे तरीके के बारे में जानेंगे.

जब हम सम्रद्धि की उच्चावस्था में पहुंचते हैं तब हमें पैसे कमाने के सबसे सही तरीके का ज्ञान हो पाता है.

गाँव और छोटे कस्बों से बड़े पैमाने पर कौन सा नया व्यवसाय किया जा सकता है?

बड़े पैमाने  से मैं एकदम क्लीन बोल्ड हो चुका क्योकि यदि हम नीचे की सारणी को देखें तो पायेंगे कि तकरीबन बीस हजार व्यवसायी इस देश में आयकर रिटर्न जमा करने वाले तकरीबन छः करोड़ लोगों कि कुल आमदनी में से एक चौथाई से ज्यादा आमदनी अपने-अपने व्यवसाय से सालाना करते हैं. फिर भी वे सब छः अलग-अलग पैमाने में पाये गये हैं.

परामर्शक

परामर्शक (पथ प्रदर्शक)

आपको अपने वाटसेप समूहों में या अन्य संसाधनों से यौग्य अभ्यर्थी खौजकर उन अभ्यर्थीयों का मार्गदर्शन करके निम्नानुसार कार्य करने हैं:

शिविर समन्वयक हैतु #1 से #5; टीम सलाहकार व राज्य सलाहकार हैतु #3 व #5

शिविर समन्वयक

पात्रता मापदंड

  1. हम तीन पीढ़ियों से एक ही गाँव में रहे हों।
  2. बेरोजगार युवाओं को अपनी रोटी कमाने में मदद करने की इच्छा।
  3. बेरोजगार युवाओं के माता-पिता से सम्मान पाने की महत्वाकांक्षा।
  4. पड़ोसी ग्रामीणों के साथ पूर्वाग्रहों के बिना बातचीत करने की इच्छा।
  5. पड़ोस की आबादी में चलने की इच्छा; जो 50 गांवों तक फैला हो सकता है?
  6. आपके मोबाइल में कम से कम पचास संपर्क नंबर जो आपको घ्यान से सुनते हैं।
  7. 1 जनवरी 1977 के बाद पैदा हुये, बहिर्मुखी व्यक्तित्व के धनी; स्वयम् अभी पूर्णतया बेरोजगार हों।

अपने पैतृक ग्रामीण क्षैत्र के लिए पारकेम्प® से कमाई के लाइसेंस के लिए आवेदन कैसे करें?

  1. हमें "लाइसेंस के लिए आवेदन करें" रूपी इस लिंक पर (इस जवाब को पूरा पढ़ने के बाद) क्लिक करना है। 
  2. और गांव का नाम के आगे उस गांव का नाम भरें; जहां हमारे दादा-दादी रहते थे और हम भी वहीं रह रहे हैं। यह वह केंद्र है जहां से हम अपने व्यवसाय को संचा

संस्थापक के बारे में अधिक जाने

एक दार्शनिक का विचार; "यदि दो पल के लिये भी, हमारा बौझ बाजू कर दें;तो दुनिया हिला दें"  देखें कैसे 2 मिनिट में, हमारी दुनिया बदल जायेगी.

मैं 2020 में भारत में अंशकालिक काम करके एक मिलियन कैसे कमा सकता हूं?

  1. यह उत्तर उन लोगों के लिए अभिप्रेत है; जो निज कर्मों का परिणाम पाने हैतु 9 माह का धैर्य रखने में विश्वास रखते हैं।
  2. हमारे पास पूरे भारत में आकलन वर्ष 2018-19 है; केवल 31, 07, 334 व्यक्ति ऐसे हैं; जिन्होंने अपनी वार्षिक आय, दस लाख से 15 लाख तक दिखाई; लगभग 13 00 000 हजार कुल भारतीय आबादी में से।
  3. यह सोचकर कि, इतनी कमाई उतनी ही आसान है जितना एक रसगुल्ले को गप करना; पूरे प्रकरण को मुंगेरीलाल के हसीन सपने की श्रेणी में रख देगा।
  4. लेकिन अगर हम उस लक्ष्य को साध्य करने के लिए वास्तव में अपनी ऊर्जा, समय और ध्यान केंद्रित करते हुये गंभीर और तैयार हैं तो यहाँ एक विचार है।

दृष्टि

दृष्टि: अगर हम लोगों को उनके छिपे हुए जुनून और प्रतिभा की प्रासंगिकता में सर्वोत्तम संभव फिट में तैनात करते हैं तो वे आसानी

मिशन

भारतीय भूमि से काम के तनाव और बेरोजगारी को मिटाकर; भारतीय अर्थव्यवस्था को इस तरीके से बढ़ाएं जहां औसत