शिविर समन्वयक

पात्रता मापदंड

  1. हम तीन पीढ़ियों से एक ही गाँव में रहे हों।
  2. बेरोजगार युवाओं को अपनी रोटी कमाने में मदद करने की इच्छा।
  3. बेरोजगार युवाओं के माता-पिता से सम्मान पाने की महत्वाकांक्षा।
  4. पड़ोसी ग्रामीणों के साथ पूर्वाग्रहों के बिना बातचीत करने की इच्छा।
  5. पड़ोस की आबादी में चलने की इच्छा; जो 50 गांवों तक फैला हो सकता है?
  6. आपके मोबाइल में कम से कम पचास संपर्क नंबर जो आपको घ्यान से सुनते हैं।
  7. 1 जनवरी 1977 के बाद पैदा हुये, बहिर्मुखी व्यक्तित्व के धनी; स्वयम् अभी पूर्णतया बेरोजगार हों।

यदि आप इन सात पूर्व शर्तों को पूरा करते हैं, तो आप अनुज्ञाधारी शिविर समन्वयक  के लिए आवेदन करने के लिए पात्र हैं 

आवेदन कैसे करें

  1. हमें अनुज्ञाधारी शिविर समन्वयक हैतु  इस पृष्ठ को पूरा पढ़ने के बाद यहां स्पर्श कर आवेदन प्रपत्र भरना है
  2. और गांव का नाम के आगे उस गांव का नाम भरें; जहां हमारे दादा-दादी रहते थे और हम भी वहीं रह रहे हैं। यह वह केंद्र है जहां से हम अपने व्यवसाय को संचालित कर सकते हैं और अपने घर से दस किलोमीटर की अधिकतम दूरी तक काम कर सकते हैं।
  3. हमें अपना पिन कोड उस जगह में भरना है जो गाँव का नाम भरने के बाद दिखाई देता है। जिसे आप अपने डाकिया से पूछ कर पा सकते हैं; जो हमारे गांव में हमारी डाक का वितरण करता है। पिन कोड; पोस्टल इंडेक्स नंबर पोस्ट ऑफिस नंबरिंग को संदर्भित करता है जहां से हमारी डाक हमारे डाकिया के माध्यम से आती है।
  4. हमें उस अवधि का चयन करना होगा जितने समय के लिए लाइसेंस की हमें आवश्यक्ता है।
  5. उस के बाद हमें अपने लाइसेंस की अवधि के लिए अपनी अनुमानित आय का चयन करना होगा।
  6. उस के बाद हमें उस राशि का चयन करना होगा जिसे हम अपनी चयनित अवधि के लिए उस लाइसेंस के लिए भुगतान करना चाहते हैं।
  7. उस के बाद हमें ईमेल लिखना है; जिसे हम नियमित रूप से जांचते हैं और उस के बाद वह मोबाइल नंबर लिखना है; जिसमे हम एसएमएस देखते हैं।

आवेदन की वैधता

आपका आवेदन 180 दिनों के लिए वैध रहेगा। अगर आवेदन जांच के अगले स्तर के लिए परिपूर्ण पाया गया तो इस अवधि के भीतर हम आपसे और अधिक जानकारी; जैसे कि आपका डाक का पूरा पता इत्यादि पूछेंगे। अगले 180 दिनों तक आप यह कर सकते हैं.

आजीविका हैतु हमें करना क्या रहेगा?

आरम्भिक पृथम शिविर पर्यंत बेरोजगार युवाओं के नामांकन हैतु पारकेम्प® का साहित्य लेकर उन तक पहुंचना रहेगा.
नामांकन पश्चात शिविर पर्यंत की कार्यवाही का विवरण आपके आवेदन की जांच में परिपूर्ण पाये जाने पर; आपके आवेदन के 90 दिनों के पश्चात आपको सूचित किया जायगा.